Pyar ki kahani in hindi

Hello friends, आज मैं आपको बताऊँगी Pyar ki kahani in hindi. इस कहानी को पढ़कर आपको कैसा लगा, उसे नीचे comment box में ज़रूर बताएं। और अगर आपको यह कहानी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी share करें। 

तो चलिए जानते हैं pyar kahani।

Pyar ki kahani

#Story 1: Peter और Lily की कहानी 

एक बार की बात है, एक छोटे से गांव में पीटर नाम का एक लड़का रहता था। वह अपने माता-पिता और भाई-बहनों के साथ रहता था और अपना दिन खेतों में खेलने और पास के जंगल की खोज में बिताता था।

एक दिन, जंगल में भटकते हुए, पीटर एक खूबसूरत बगीचे में ठोकर खा गया। यह अब तक के सबसे रंगीन और सुगंधित फूलों से भरा हुआ था, और बगीचे के केंद्र में एक छोटी सी झोपड़ी थी।

जैसे ही पीटर कुटिया के पास पहुँचा, उसने अपनी उम्र की एक लड़की को फूलों की देखभाल करते देखा। उसका नाम लिली था, और वह सबसे सुंदर लड़की थी जिसे पीटर ने कभी देखा था। पीटर और लिली ने बात करना शुरू किया और जल्दी ही दोस्त बन गए। उन्होंने हर दिन एक साथ बिताया, बगीचे की खोज की और खेले। जैसे-जैसे समय बीतता गया, पीटर को एहसास हुआ कि उसे लिली से प्यार हो गया है।

pyar ki ek kahani

एक दिन, पीटर ने लिली को यह बताने का साहस जुटाया कि उसे कैसा लगा। उसके आश्चर्य करने के लिए, लिली को भी ऐसा ही लगा! उन्होंने एक-दूसरे को कसकर गले लगाया और हमेशा एक-दूसरे के साथ रहने का वादा किया। लेकिन उनकी खुशी अल्पकालिक थी। लिली के माता-पिता ने उसकी शादी एक अमीर व्यापारी के बेटे से कराने की व्यवस्था की थी, जिससे वह बिल्कुल भी प्यार नहीं करती थी।

Also Read: Lily की कहानी

पीटर का दिल टूट गया था, लेकिन उसने लिली को छोड़ने से इनकार कर दिया। उसने उसकी शादी के दिन के लिए फूलों का सबसे खूबसूरत गुलदस्ता बनाकर उसके प्रति अपने प्यार को साबित करने का फैसला किया। शादी के दिन, पीटर ने लिली को गुलदस्ता भेंट किया। वह उसके हावभाव से इतनी प्रभावित हुई कि उसे एहसास हुआ कि वह शादी से नहीं गुजर सकती। वह समारोह से भाग गई और उसने पीटर को उसका इंतजार करते पाया।

वे एक साथ भाग गए और एक नया जीवन शुरू किया। वे जंगल में एक छोटी सी झोपड़ी में रहते थे और जहाँ वे पहली बार मिले थे, उस बगीचे की देखभाल करते रहे। पीटर और लिली का एक दूसरे के लिए प्यार हर दिन मजबूत होता गया। वे जानते थे कि उनका प्यार खास है और वे हमेशा एक-दूसरे के लिए रहेंगे।

कहानी का नैतिक यह है कि सच्चा प्यार लड़ने लायक है, और जब आप इसे पा लेते हैं, तो यह जीवन भर के लिए खुशी और आनंद ला सकता है।

Kahani pyar ki in Hinglish

Ek baar ki baat hai, ek chhote se gaanv mein Peter naam ka ek ladaka rahata tha. Vah apne mata-pita aur bhai-bahanon ke sath rehta tha aur apna din kheton mein khelne aur paas ke jungle ki khoj mein bitaata tha.

Ek din, jungle mein bhatakte hue, Peter ek khoobasoorat bagiche mein thokar kha gaya. Yah ab tak ke sabase rangin aur sugandhit phoolon se bhara hua tha, aur bagiche ke kendr mein ek chhoti si jhopadi thi.

Jaise hi Peter kutiya ke paas pahuncha, usne apani umr ki ek ladaki ko phoolon ki dekhabhaal karte dekha. Uska naam Lily thai, aur vah sabase sundar ladaki thi jise Peter ne kabhi dekha tha. Peter aur Lily ne baat karna shuru kiya aur jaldi hi dost ban gaye. Unhonne har din ek sath bitaya, bagiche ki khoj ki aur khel khele. Jaise-jaise samay bitata gaya, Peter ko ehasaas hua ki use Lily se pyaar ho gaya hai.

Ek din, Peter ne Lily ko yah bataane ka saahas jutaaya ki use kaisa laga. Usake aashcharya karne ke liye, Lily ko bhi aisa hi laga! Unhone ek-doosre ko kas kar gale lagaya aur hamesha ek-dusre ke sath rehne ka wada kiya. Lekin unaki khushi alpakaalik thi. Lily ke mata-pita ne usaki shaadi ek amir vyaapaari ke bete se karaane ki vyavastha ki thi, jisase vah bilkul bhi pyaar nahin karati thi.

Also Read: Isabella की कहानी

Peter ka dil toot gaya tha, lekin usne Lily ko chhodane se inakaar kar diya. Usane usaki shaadi ke din ke liye phoolon ka sabse khoobsurat guldasta banaakar usake prati apane pyaar ko saabit karane ka faisla kiya. Shaadi ke din, Peter ne Lily ko guladasta bhent kiya. Vah usake haavabhaav se itani prabhaavit hui ki use ehsaas hua ki vah shaadi se nahin gujar sakati. Vah samaaroh se bhaag gai aur usane Peter ko usaka intezaar karte paaya.

Ve ek saath bhaag gae aur ek naya jeevan shuru kiya. Ve jungle mein ek choti si jhopdi mein rahate the aur jahaan ve pahali baar mile the, us bagiche ki dekhbhal karte rahe. Peter aur Lily ka ek doosre ke liye pyaar har din majaboot hota gaya. Ve jaante the ki unaka pyaar khaas hai aur ve hamesha ek-dusre ke liye rahenge.

Kahaani ka naitik yah hai ki sachcha pyaar ladane laayak hai, aur jab aap ise pa lete hain, to yeh jeevan bhar ke liye khushi aur aanand la sakata hai.

Pyar story in English

Once upon a time, in a small village, there was a young boy named Peter. He lived with his parents and siblings and spent his days playing in the fields and exploring the nearby forest.

One day, while wandering through the woods, Peter stumbled upon a beautiful garden. It was filled with the most colorful and fragrant flowers he had ever seen, and in the center of the garden, there was a small cottage.

As Peter approached the cottage, he saw a girl his age tending to the flowers. Her name was Lily, and she was the most beautiful girl Peter had ever seen. Peter and Lily started talking and quickly became friends. They spent every day together, exploring the garden and playing games. As time passed, Peter realized that he had fallen in love with Lily.

Also Read: Rahul and the bird story

One day, Peter gathered the courage to tell Lily how he felt. To his surprise, Lily felt the same way! They hugged each other tightly and promised to always be there for each other. But their happiness was short-lived. Lily’s parents had arranged for her to marry a wealthy merchant’s son, someone she didn’t love at all.

Peter was heartbroken, but he refused to give up on Lily. He decided to prove his love for her by making the most beautiful bouquet of flowers for her wedding day. On the day of the wedding, Peter presented Lily with the bouquet. She was so touched by his gesture that she realized she could not go through with the wedding. She ran away from the ceremony and found Peter waiting for her.

They ran away together and started a new life. They lived in a small cottage in the forest and continued to tend to the garden where they first met. Peter and Lily’s love for each other grew stronger every day. They knew that their love was special and that they would always be there for each other.

The moral of the story is that true love is worth fighting for, and when you find it, it can bring happiness and joy for a lifetime.

#Story 2: Emily और Jacob की कहानी 

एक बार की बात है, एमिली नाम की एक लड़की थी जो ग्रामीण इलाकों में अपनी दादी के घर जाना पसंद करती थी। एक बार गर्मियों में, एमिली की मुलाकात जैकब नाम के एक लड़के से हुई, जो अपने परिवार के साथ पड़ोस की झोपड़ी में रह रहा था। वे पक्के दोस्त बन गए, जंगल की खोज करते हुए, धारा में खेलते हुए, और एक साथ पिकनिक मनाते हुए।

जैसे-जैसे साल बीतते गए, एमिली और जैकब बड़े होते गए और उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई। उन्हें एहसास हुआ कि वे एक साथ रहने वाले थे और उन्होंने शादी करने का फैसला किया। उन्होंने ग्रामीण इलाकों में अपने परिवारों और दोस्तों से घिरे हुए एक सुंदर शादी की थी।

Also Read: Sofia की कहानी

शादी के बाद, एमिली और जैकब ग्रामीण इलाकों में एक छोटे से घर में रहने चले गए। वे एक साथ बहुत खुश थे और अपने दिन अपने बगीचे की देखभाल करने, जंगल में लंबी सैर करने और एक दूसरे की कंपनी का आनंद लेने में बिताते थे।

pyar kahani

एक दिन, एमिली ने देखा कि जैकब उदास लग रहा था। जब उसने उससे पूछा कि क्या हुआ है, तो उसने कहा कि वह अपने घर और अपने परिवार को याद करता है। एमिली समझ गई कि जैकब अपने परिवार से कितना प्यार करता है, और उसने सुझाव दिया कि वे उनसे मिलने के लिए एक यात्रा करें।

उन्होंने अपना सामान बांधा और याकूब के घर की लंबी यात्रा पर निकल पड़े। जब वे पहुंचे, याकूब अपने परिवार के साथ फिर से मिल कर बहुत खुश हुआ। उन्होंने कई खुशनुमा दिन एक साथ बिताए, पुराने समय को याद किया और नई यादें बनाईं।

आखिरकार, एमिली और जैकब के घर लौटने का समय आ गया था। जब वे ग्रामीण इलाकों में वापस यात्रा कर रहे थे, जैकब एमिली की ओर मुड़ा और कहा, “एमिली, मैं तुम्हारे लिए बहुत आभारी हूं। तुम मेरे घर हो, चाहे हम कहीं भी जाएं।”

उस दिन से, एमिली और जैकब को पता चल गया था कि उनका प्यार दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण चीज है, और जीवन चाहे उन्हें कहीं भी ले जाए, वे हमेशा साथ रहेंगे।

Also Read: हीरो का महल

कहानी का नैतिक यह है कि प्यार सबसे मजबूत बंधन है, और इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि जीवन आपको कहां ले जाता है, यह महत्वपूर्ण है कि आप जिससे प्यार करते हैं उसे संजोएं।

Pyaar ki kahani in Hinglish

Ek baar ki baat hai, Emily naam ki ek choti ladaki thi jo graamin ilaakon mein apani daadi ke ghar jana pasand karti thi. Ek garmiyon mein, Emily ki mulaakaat Jacob naam ke ek ladke se hui, jo apane parivaar ke saath pados ki jhopadi mein rah raha tha. Ve pakke dost ban gaye, jungle ki khoj karate hue, dhaara mein khelate hue, aur ek saath pikanik manaate hue.i

Jaise-jaise saal bitate gae, Emily aur Jacob bade hote gae aur unaki dosti pyar mein badal gayi. Unhen ehasaas hua ki ve ek saath rahane vaale the aur unhonne shaadi karane ka phaisala kiya. Unhonne gramin aankhon mein apne parivaar aur doston se ghire hue ek sundar shaadi ki thi.

Shaadi ke baad, Emily aur Jacob graamin lakhon mein ek chote se ghar mein rahane chale gae. Ve ek saath bahut khush the aur apane din apane bagiche ki dekhabhaal karane, jungle mein lambi sair karne aur ek doosre ki company ka aanand lene mein bitate the.

Also Read: तोते की कहानी

Ek din, Emily ne dekha ki Jacob udaas lag raha tha. Jab usne usse pucha ki kya hua hai, to usne kaha ki vah apne grhanagar aur apane parivaar ko yaad karata hai. Emily samajh gai ki Jacob apane parivaar se kitana pyaar karata hai, aur usane sujhaav diya ki ve unase milane ke liye ek yaatra karen.

Unhone apana saamaan baandha aur yaakoob ke grhanagar ki lambi yaatra par nikal pade. Jab ve pahunche, yaakoob apane parivaar ke saath phir se mil kar bahut khush hua. Unhonne kai khushnuma din ek saath bitae, puraane samay ko yaad kiya aur nai yaaden banain.

Aakhirkar, Emily aur Jacob ke ghar lautane ka samay aa gaya tha. Jab ve graamin ilaakon mein vaapas yaatra kar rahe the, Jacob Emily ki or muda aur kaha, “Emily, main tumhare liye bahut abhari hoon. Tum mere ghar ho, chaahe ham kahin bhi jaen.”

Us din se, Emily aur Jacob ko pata chal gaya tha ki unaka pyaar duniya mein sabse mahatvapurn chij hai, aur jivan chaahe unhen kahin bhi le jae, ve hamesha saath rahenge.

Also Read: चींटी और कबूतर की कहानी

Kahaani ka naitik yeh hai ki pyaar sabase majboot bandhan hai, aur isse koi phark nahin padata ki jivan aapko kaha le jata hai, yah mahatvapurn hai ki aap jaise pyaar karte hai use sanjoen.

Pyar ki story in English

Once upon a time, there was a little girl named Emily who loved to visit her grandmother’s house in the countryside. One summer, Emily met a boy named Jacob who was staying with his family in a neighboring cottage. They became fast friends, exploring the woods, playing in the stream, and having picnics together.

As the years went by, Emily and Jacob grew up and their friendship turned into love. They realized that they were meant to be together and decided to get married. They had a beautiful wedding in the countryside, surrounded by their families and friends.

After the wedding, Emily and Jacob moved to a small house in the countryside. They were very happy together and spent their days tending to their garden, taking long walks in the woods, and enjoying each other’s company.

One day, Emily noticed that Jacob seemed sad. When she asked him what was wrong, he told her that he missed his hometown and his family. Emily understood how much Jacob loved his family, and she suggested they take a trip to visit them.

Also Read: Prince लूफी की कहानी

They packed their bags and set off on a long journey to Jacob’s hometown. When they arrived, Jacob was overjoyed to be reunited with his family. They spent many happy days together, catching up on old times and making new memories. Eventually, it was time for Emily and Jacob to return home. As they traveled back to the countryside, Jacob turned to Emily and said, “I am so grateful for you, Emily. You are my home, no matter where we go.”

From that day on, Emily and Jacob knew that their love was the most important thing in the world, and that no matter where life took them, they would always be together. The moral of the story is that love is the strongest bond of all, and that no matter where life takes you, it’s important to cherish the ones you love.

#Story 3: Sophia की love story

एक बार की बात है, एक छोटे से गांव में सोफिया नाम की एक लड़की रहती थी जो अपने माता-पिता के साथ रहती थी। सोफिया एक दयालु और देखभाल करने वाली लड़की थी जो हर किसी की मदद करना पसंद करती थी।

एक दिन सोफिया जंगल में टहल रही थी जब उसकी मुलाकात एक घायल पक्षी से हुई। चिड़िया के पंख टूट गए थे और वह उड़ नहीं सकती थी। सोफिया को चिड़िया पर तरस आया और उसने उसकी देखभाल करने का फैसला किया।

वह चिड़िया को घर ले आई और उसका पालन-पोषण करके उसे स्वस्थ कर दिया। हर दिन सोफिया चिड़िया को खाना खिलाती और उसके पंखों का व्यायाम करने में मदद करती। आखिरकार, पक्षी फिर से उड़ने में सक्षम हो गया और सोफिया ने उसे वापस जंगल में छोड़ दिया।

pyar ki kahani

Also Read: खरगोश की कहानी

कुछ समय बाद गांव में डेनियल नाम का एक युवक आया। वह दयालु और सुंदर था और सोफिया को उससे प्यार हो गया। उन्होंने एक साथ समय बिताया और जल्द ही वे अविभाज्य हो गए।

एक दिन जंगल में घूमते हुए उन्हें वही चिड़िया मिली जिसकी मदद सोफिया ने पहले की थी। चिड़िया उड़कर सोफिया के पास गई और उसके कंधे पर बैठ गई, मानो उसे धन्यवाद कह रही हो।

सोफिया की दयालुता और चिड़िया की देखभाल देखकर डेनियल चकित रह गया। वह जानता था कि सोफिया उसके लिए एक थी और उसने उसे अपनी पत्नी बनने के लिए कहा।

सोफिया ने हाँ कहा, और उन्होंने जंगल में एक खूबसूरत समारोह में शादी कर ली। उन्होंने अपने बाकी दिन एक साथ बिताए, हमेशा दूसरों की मदद की और जहाँ भी वे गए दया दिखायी।

Also Read: जादुई मछली की कहानी

कहानी का नैतिक यह है कि सच्चा प्यार तब मिलता है जब हम दूसरों के प्रति दया और देखभाल दिखाते हैं, यहां तक कि सबसे छोटे जीवों के लिए भी।

Is pyar ki ek kahani in Hinglish

Ek baar ki baat hai, ek chhote se gaanv mein Sophia naam ki ek ladaki rahati thi jo apane maata-pita ke saath rahati thi. Sophia ek dayaalu aur dekhabhaal karane vaali ladaki thi jo har kisi ki madad karana pasand karati thi.

Ek din Sophia jungle mein tahal rahi thi jab uski mulaqat ek ghayal pakshi se hui. Chidiya ke pankh toot gaye the aur vah ud nahi sakti thi. Sophia ko chidiya par taras aaya aur usne uski dekhbhal karne ka faisla kiya.

Vah chidiya ko ghar le aai aur usaka paalan-poshan kar ke use swasth kar diya. Har din Sophia chidiya ko khaana khilaati aur usake pankhon ka vyaayaam karane mein madad karati. Aakhirakaar, pakshi phir se udane mein saksham ho gaya aur Sophia ne use vaapas jungle mein chhod diya.

Kuchh samay baad gaanv mein Daniel naam ka ek yuvak aaya. Vah dayaalu aur sundar tha aur Sophia ko usase pyaar ho gaya. Unhonne ek saath samay bitaaya aur jald hi ve avibhajya ho gae.

Also Read: बुरे संगीतकार की कहानी

Ek din jungle mein ghoomate hue unhen vahi chidiya mili jisaki madad Sophia ne pahale ki thi. Chidiya udakar Sophia ke paas gai aur usake kandhe par baith gai, maano use dhanyavaad kah rahi ho.

Sophia ki dayaaluta aur chidiya ki dekhabhaal dekhakar Daniel chakit rah gaya. Vah jaanta tha ki Sophia usake liye ek thi aur usne use apni patni banane ke liye kaha.

Sophia ne haan kaha, aur unhone jungle mein ek khoobasoorat samaaroh mein shaadi kar li. Unhonne apane baaki din ek saath bitae, hamesha doosaron ki madad ki aur jahaan bhi ve gae daya dikhaayi. Kahaani ka naitik yah hai ki sachcha pyaar tab milata hai jab ham doosaron ke prati daya aur dekhabhaal dikhaate hain, yahaan tak ​​ki sabase chhote jivon ke lie bhi.

Pyar story in english

Once upon a time, in a small village, there was a young girl named Sophia who lived with her parents. Sophia was a kind and caring girl who loved to help everyone she could.

One day, Sophia was walking in the forest when she stumbled upon a wounded bird. The bird had a broken wing and could not fly. Sophia felt sorry for the bird and decided to take care of it.

She brought the bird home and nursed it back to health. Every day, Sophia would feed the bird and help it exercise its wing. Eventually, the bird was able to fly again, and Sophia released it back into the wild.

Some time later, a young man named Daniel came to the village. He was kind and handsome, and Sophia fell in love with him. They spent time together, and soon they became inseparable.

Also Read: Magical world story in hindi

One day, while walking in the forest, they came across the same bird that Sophia had helped before. The bird flew over to Sophia and perched on her shoulder, as if to say thank you. Daniel was amazed at Sophia’s kindness and care for the bird. He knew that Sophia was the one for him and asked her to be his wife.

Sophia said yes, and they got married in a beautiful ceremony in the forest. They spent the rest of their days together, always helping others and showing kindness wherever they went. The moral of the story is that true love is found when we show kindness and care for others, even the smallest creatures.

Also Read: Chidiya wali kahani

Conclusion

मुझे उम्मीद है कि आपको pyar ki ek kahani पसंद आई होगी और आपने इसको पढ़कर बहुत आनन्द लिया होगा। 

ऊपर लिखी कहानी के बारे में आपके क्या विचार हैं, उन्हें नीचे comment box में जरुर प्रकट करें। अगर आपका कोई सवाल है तो आप comment कर सकते हैं या email कर सकते हैं। इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक share करें ताकि अन्य लोग इस शायरी का आनंद ले सकें।

मैं आपको जल्द से जल्द reply देने की कोशिश करूंगी। 

धन्यवाद……..।

इस पढ़ने के लिए शुक्रिया।


FAQ (Frequently Asked Questions)

पीटर और लिली कैसे मिले?

पीटर और लिली एक खूबसूरत बगीचे में मिले थे जब वे दोनों फूलों को निहार रहे थे।

पीटर ने लिली को प्रभावित करने के लिए क्या किया?

पीटर ने एक सुंदर फूल उठाया और लिली को उपहार के रूप में दिया।

लिली ने पीटर को अपना प्यार दिखाने के लिए क्या किया?

लिली ने पीटर की एक सुंदर तस्वीर बनाई और उसे उपहार के रूप में दी।

कहानी के अंत में पीटर और लिली ने एक साथ क्या किया?

पीटर और लिली बगीचे में टहलने गए और एक दूसरे की कंपनी का आनंद लिया।

Leave a Comment