मिल सके आसानी से , उसकी ख्वाहिश किसे है? ज़िद तो उसकी है … जो मुकद्दर में लिखा ही नहीं!

मेरा वजूद नहीं किसी तलवार और तख़्त ओ ताज का मोहताज, में अपने हुनर और होंठो की हंसी से लोगो के दिल पे राज करता हूँ!

हिम्मत को परखने की गुस्ताखी न करना, पहले भी कई तूफानों का रुख मोड़ चुका हूँ

इतना भी गुमान न कर आपनी जीत पर ऐ बेखबर, शहर में तेरे जीत से ज्यादा चर्चे तो मेरी हार के हैं.

एक ही वक्त हर इंसान के लिए अलग होता है… किसी के लिए अच्छा होता है तो किसी के लिए बुरा होता है।

आदते बुरी नहीं , शौक ऊँचे हैं, वर्ना किसी ख्वाब की इतनी औकात नही की , हम देखे और पुरा ना हो!

“दम” कपड़ो में नहीं,जिगर में रखो बात अगर कपड़ो में होती तो, सफ़ेद कफ़न में,लिपटा हुआ मुर्दा भी “सुल्तान मिर्ज़ा” होता

लाखो की हंसी तुम्हारे नाम कर देंगे ! हर खुशी तुम पे कुर्बान कर देंगे । आये अगर हमारे प्यार मे कोई कमी तो कह देना। इस जिन्दगी को आखरी सलाम कह देंगे ।

बिकती है ना ख़ुशी कहीं, ना कहीं गम बिकता है. लोग गलतफहमी में हैं, कि शायद कहीं मरहम बिकता है.

मेरे मिज़ाज को समझने के लिए, बस इतना ही काफी है, मैं उसका हरगिज़ नहीं होता. जो हर एक का हो जाये।

नींद आए या ना आए, चिराग बुझा दिया करो, यूँ रात भर किसी का जलना, हमसे देखा नहीं जाता

Checkout more shayari from the link below

White Dotted Arrow

Share plz